हरिहर झा

जुलाई 1, 2014

आधुनिक माँ: चन्द हायकू

Filed under: Uncategorized — by Harihar Jha हरिहर झा @ 4:46 पूर्वाह्न

किराये पर
माँ की कोख मिलती
भाड़ा कितना?

आया की सेवा
डाक्टर का इलाज
“माँ” एक पेशा?

नीति हैरान
कानून परेशान
गर्भ या फैक्ट्री

जड़ को खोजा
विश्व को जड़ पाया
चेतन शून्य

गीता में आत्मा
स्त्री या पुरूष नहीं
चाहो जो बनो

-हरिहर झा
http://www.lekhni.net/3407587.html

Towards the Sky

http://www.boloji.com/index.cfm?md=Content&sd=Poem&PoemID=14303