हरिहर झा

अप्रैल 19, 2007

नंगा बोल पड़ा

Filed under: तुकान्त,मंच,व्यंग्य,हास्य — by Harihar Jha हरिहर झा @ 12:12 पूर्वाह्न

                       
कंगला डूबा चिन्ता मे तू मुझे लूट कर क्यों ले जाय
नंगा बोल पड़ा हाय! तू मेरे कपड़े क्यों ले जाय

रिश्वत भ्रष्टाचार से पनपे नेताजी की बात
पकड़े गये पद मन्त्री का अब कैसे मारें लात
भाषणबाजी लगे झाड़ने दिन देखा ना रात
अन्तरात्मा को घसीट  की विरोधियों पर घात

आत्मा की आवाज कहां की हाय गरीब की सुन ना पाय
 नंगा बोल पड़ा हाय! तू मेरे कपड़े क्यों ले जाय

बुद्धूराम समझ बैठे खुद बुद्धि के अवतार
दो और दो को तीन बतायें समझें खुद होंशियार
अक्ल बड़ी या भैंस कहें तो भैंस बड़ी है यार
समझाया तो गुस्से मे आकर कर देंगे वार

खाली भेजे मे भी चिन्ता उनका भेजा कोई न खाय
नंगा बोल पड़ा हाय! तू मेरे कपड़े क्यों ले जाय

धरम के ठेकेदार चले हैं ध्वजा धरम की थाम
छुरी छुपाई बगल में मुख से लिया राम का नाम
दौड़े सुख की चाह मे वृत्ति रही काम या दाम
मन मे हरि को खोज न पाये ढूंढे चारो धाम

नौ सौ चूहे खा कर बिल्ली हज करने को जाय
नंगा बोल पड़ा हाय! तू मेरे कपड़े क्यों ले जाय़।

                           – हरिहर झा

Advertisements

4 टिप्पणियाँ »

  1. नौ सौ चूहे खा कर बिल्ली हज करने को जाय
    नंगा बोल पड़ा हाय! तू मेरे कपड़े क्यों ले जाय़।

    –बहुत खूब!! बधाई!

    टिप्पणी द्वारा समीर लाल — अप्रैल 19, 2007 @ 2:08 पूर्वाह्न |प्रतिक्रिया

  2. Dhanyavaad Samir Ji

    DhoNgi BhaktooN ke liye jo bhi kahaa jaay kam hei.

    -Harihar

    टिप्पणी द्वारा Harihar Jha हरिहर झा — अप्रैल 19, 2007 @ 7:09 पूर्वाह्न |प्रतिक्रिया

  3. वाह! बहुत मजेदार !!!

    टिप्पणी द्वारा रवि — अप्रैल 19, 2007 @ 7:36 पूर्वाह्न |प्रतिक्रिया

  4. Dhanyavaad Ravi Ji

    -Harihar

    टिप्पणी द्वारा Harihar Jha हरिहर झा — अप्रैल 20, 2007 @ 2:05 पूर्वाह्न |प्रतिक्रिया


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: